Himachal Pradesh
13th Legislative Assembly ( Vidhan Sabha )

Session Related

  • प्रैस विज्ञप्ति

    18/02/2019

        आज दिनांक 18 फरवरी, 2019 को सत्र के समापन अवसर पर सदन में मौजूद माननीय सदस्यों को सम्बोधित करते हुए हिमाचल प्रदेश माननीय अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल ने कहा कि  इस सत्र के दौरान  सदन की कुल  13 बैठकें आयोजित हुई तथा सदन की कार्यवाही 56 घण्टे 5 मिनट तक चली । इसमें प्रथम दिन माननीय राज्यपाल महोदय का अभिभाषण प्रस्तुत हुआ । इसके उपरान्त माननीय मुख्य मन्त्री महोदय ने अनुपूरक बजट प्रस्तुत किया तथा 5 फरवरी, को उसका पारण हुआ। राज्यपाल महोदय के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव चर्चा तीन दिन (दिनांक 5 फरवरी से 7 फरवरी, 2019) हुई जिसमें कुल 33 सदस्यों (पक्ष-18, प्रतिपक्ष-13 व सी पी आई (एम)-1 व निर्दलीय-1) ने भाग लिया तथा चर्चा 9 घण्टे 45 मिनट तक चली, चर्चा उपरान्त माननीय मुख्य मन्त्री ने दिनांक 7 फरवरी, 2019 को  (1 घण्टे 30 मिनट) चर्चा का उत्तर दिया । दिनांक 9 फरवरी, 2019 को माननीय मुख्य मन्त्री द्वारा वजट अनुमान वित्तीय वर्ष 2019-2020 प्रस्तुत किया । वजट अनुमानों पर सामान्य चर्चा तीन दिन (11 फरवरी से 13 फरवरी 2019) हुई जिसमें कुल 36 सदस्यों (पक्ष-18, प्रतिपक्ष-15, सी पी आई (एम)-1 व निर्दलीय-2) ने भाग लिया एवं चर्चा 10 घण्टे 01 मिनट तक चली, चर्चा उपरान्त माननीय मुख्य मन्त्री ने दिनांक 13 फरवरी, 2019  को 1 घण्टे 20  मिनट चर्चा का उत्तर दिया  ।

         डॉ0 बिन्दल ने कहा कि दिनांक 15 फरवरी, से आज तक वजट की अनुदान मांगों पर विपक्ष ने अपने-अपने कटौती प्रस्ताव प्रस्तुत किए एवं सार्थक चर्चा की, चर्चा उपरान्त मुख्य मन्त्री /मन्त्रियों ने अपनी - अपनी मांगों से सम्बन्धित उत्तर दिए एवं मांगे पारित हुई । तदोपरान्त दिनांक  18 फरवरी 2019 को 4:00 बजे गिलोटिन द्वारा सभी मांगे पूर्ण रूप से पारित हुई एवं विनियोग विधेयक पर विचार विमर्श एवं पारण हुआ । अनुदान की विभिन्न मांगों पर विपक्ष के 14 माननीय सदस्यों ने भाग लिया ।

         उन्होंने कहा कि सत्र में जनहित के महत्वपूर्ण विषयों पर प्रश्नों के माध्यम से चर्चा हुई व सुझाव दिए गये जिनके दूरगामी परिणाम होंगे। इस सत्र के दौरान  कुल 436 तारांकित तथा  196 अतारांकित प्रश्नों की सूचनाओं पर सरकार द्वारा उत्तर उपलब्ध करवाए गए।

         सत्र में दो दिन गैर-सरकारी सदस्य दिवस निधार्रित हेतु थे जिस पर माननीय सदस्यों ने  नियम 101 के अन्तर्गत 6 गैर-सरकारी संकल्प प्रस्तुत किए । माननीय सदस्यों ने अपने बहुमूल्य सुझाव दिये तथा एक सकंल्प सदन द्वारा पारित किया गया । इसके अतिरिक्त एक संकल्प पिछले सत्र में प्रस्तुत किया गया था पर भी चर्चा हुई तथा एक संकल्प सदन पर आगामी सत्र में चर्चा होगी ।

         उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त 6 सरकारी विधेयक भी सभा में पुर:स्थापित एवं पारित किये गए। नियम-324 के अन्तर्गत विशेष उल्लेख के माध्यम से 6 विषय सभा में उठाये गये तथा सरकार द्वारा इस सम्बन्ध में वस्तुस्थिति से अवगत करवाया गया ।

    सभा की समितियों ने भी 35 प्रतिवेदन सभा में उपस्थापित किये । इसके अतिरिक्त मन्त्रियों द्वारा अपने-अपने विभागों से सम्बन्धित दस्तावेज भी सभा पटल पर रखे  गए तथा महत्वपूर्ण वक्तव्य भी दिये गए ।

        डॉ0 बिन्दल ने कहा कि सत्र के दौरान उनका भरसक प्रयास रहा कि सत्र की कार्यवाही सौहार्दपूर्ण वातावरण में चले। मैं माननीय मुख्य मन्त्री जी, नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व मुख्य मन्त्री  श्री वीरभद्र सिंह जी  के सहयोग का भी धन्यवादी हूं जिनकी वजह से मैं इस माननीय  सदन  की कार्यवाही को सुचारू रूप से संचालन  कर पाया ।

          उन्होंने कहा कि वे  माननीय संसदीय कार्यमन्त्री व मुख्य सचेतक के भी धन्यवादी है जिन्होंने सदन में दोनों पक्षों के बीच बेहतर समन्वय बनाए रखा । वे अपने सहयोगी माननीय उपाध्यक्ष, विधान सभा व सभापति तालिका के सदस्यों का जिन्होंने कार्यवाही के संचालन में बहुमूल्य सहयोग दिया का भी धन्यवाद करना चाहता हॅूं।

          उन्होंने कहा कि वे  इस माननीय सदन के समस्त सदस्यों का भी आभार व्यक्त करना चाहता हॅूं जिन्होंने इस सदन की समय सीमाओं और नियमों का पालन करते हुए अपने-अपने विषयों का सदन में उठाया ।

         डॉ0 बिन्दल ने कहा कि वे  अपने सचिवालय के सचिव और समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों एवं राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों/कर्मचारियों के सहयोग के लिए भी आभारी हैं जिन्होंने इस सत्र दिन-रात कार्यकर विधान सभा सत्र से सम्बन्धित कार्य को समयवद्ध तरीके से निपटाने में पूर्ण सहयोग दिया ।

        उन्होंने कहा कि वे  प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया के मित्रों का भी धन्यवाद करते है जिन्होंने विधान सभा की कार्यवाही को प्रदेश के जन-जन तक पंहुचाने में अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ।

    (हरदयाल भारद्वाज),
    उप-निदेशक,
    लोक संपर्क एवं प्रोटोकॉल, 
    हि0प्र0 विधान सभा ।

  • डा0 बिन्दल ने सभी सदस्यों से की रचनात्मक सहयोग की अपील।

    04/02/2019

          हिमाचल प्रदेश विधान सभा अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल ने आज विधान सभा सचिवालय में सत्र आरम्भ होने से पूर्व 11 बजे पूर्वाह्न अपने कक्ष में एक बैठक की, इस बैठक में संसदीय कार्यमंत्री हिमाचल प्रदेश श्री सुरेश भारद्वाज तथा नेता प्रतिपक्ष श्री मुकेश अग्निहोत्री  से सदन को सुचारू रूप से चलाने की  बात रखी।

          इस अवसर पर उन्होंने सत्ता पक्ष तथा विपक्ष के सभी सदस्यों से 13 दिन तक चलने वाले इस सत्र की सभी बैठकों में भाग लेने का आग्रह करते हुए तमाम चर्चाओं में अपनी उपस्थित दर्ज करवाने की अपील की । उन्होंने कहा कि सभी सदस्यों के रचनात्मक सहयोग से ही सत्र सफल हो सकता है। उन्होंने कहा कि सत्र का व्यापक सदुपयोग जनहित से जुड़े मुददों के लिए सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

    (हरदयाल भारद्वाज),
    उप-निदेशक,
    लोक संपर्क एवं प्रोटोकॉल, 
    हि0प्र0 विधान सभा ।
      

  • विधान सभा अध्यक्ष ने की सुरक्षा प्रबन्धों से सम्बन्धित बैठक की अध्यक्षता।

    30/01/2019

          आज  अपराह्न 3.00 बजे हिमाचल प्रदेश विधान सभा के माननीय अध्यक्ष डॉ0 राजीव बिन्दल ने आगामी बजट सत्र के दृष्टिगत सुरक्षा प्रबन्धों से सम्बन्धित विधान सभा सचिवालय में एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में श्री यशपाल शर्मा सचिव हिमाचल प्रदेश विधान सभा, श्री आसिफ जलाल, उप महानिरिक्षक दक्षिण रेंज, श्री दलजीत सिंह उप महानिरिक्षक सी0 आई0 डी0, श्री अमित कश्यप जिलाधीश, जिला शिमला, श्री ओमपति जम्वाल पुलिस अधीक्षक जिला शिमला, श्री सन्दीप भारद्वाज पुलिस अधीक्षक, गुप्तचर (सुरक्षा), श्री बलबीर सिंह कमाण्डैंट होम गार्ड, तृतीय वाहिनी शिमला , श्री रमेश शर्मा संयुक्त सचिव (प्रशासन) विधान सभा तथा श्री प्रमोद चौहान, उप पुलिस अधीक्षक गुप्तचर विभाग, शिमला शामिल थे।

           बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया कि विधान सभा सचिवालय में ई-प्रवेश पत्र online तथा लिखित  आवेदन पर ही दिया जाएगा। ई-विधान प्रणाली के तहत विधान सभा सचिवालय इसे online तरीके से मुद्रित करेगी। यह आवेदन सभी ई-प्रवेश पत्र पाने वालों को अनिवार्य है। विधान सभा सचिवालय में ई-प्रवेश पत्र की जांच हेतु पुलिस द्वारा कम्पयुट्रीकृत जांच केन्द्र मुख्य द्वारों पर स्थापित किए जाएगें ताकि कम से कम असुविधा हो तथा जांच भी  पूर्ण हो।

         श्री बिन्दल ने कहा कि पूर्व की भांति इस बार भी क्यु. आर. कोड के माध्यम से फोटो युक्त ई-प्रवेश पत्र को लेपटॉप के माध्यम से प्रमाणित किया जाएगा। इन केन्द्रों पर हर व्यक्ति का डाटाबेस बनेगा जिसे पुलिस नियंत्रण कक्ष से मोनिटर करेगी। उन्होंने कहा कि ई-प्रवेश पत्र ई-विधान के अंतर्गत बनाये जाएंगे। बैठक में सदस्य तथा आगंतुकों को कम से कम असुविधा हो के दृष्टिगत यह निर्णय लिया  गया कि आगामी मॉनसून सत्र के दौरान विधान सभा सचिवालय द्वारा जारी अधिकारी दीर्घा पास, स्थापना पास तथा प्रैस संवाददाताओं को जारी किए पास प्रमुखता से प्रदर्शित किए जाएगें, ताकि सुरक्षा कर्मियों द्वारा फ्रिस्किंग की कम से कम आवश्यकता रहे।

        आगे यह भी निर्णय लिया गया कि विधान सभा सचिवालय की ओर से जारी पार्किंग स्टिकरज वाहन के आगे प्रमुखता से प्रदर्शित किए जाएंगे, ताकि धारको  को  कम से कम असुविधा का सामना करना पडे़। मोबाईल फोन, पेज़र आदि विधान सभा के अन्दर ले जाने पर पूर्णत: प्रतिबन्ध रहेगा।

           बैठक उपरान्त विधान सभा अध्यक्ष ने विधान सभा परिसर  का दौरा किया तथा सत्र के दृष्टिगत चल रही  तैयारियों का जायजा लिया। डॉ0 बिन्दल ने पत्रकार दीर्धा  का भी दौरा किया तथा उनके बैठने हेतु अतिरिक्त Seats की व्यवस्था करने का आदेश दिया । विधान सभा अध्यक्ष ने इलैक्ट्रोनिक मिडिया के लिए एक अतिरिक्त कक्ष की व्यवस्था करने का भी आदेश दिया। सत्र के दौरान कोई भी अव्यवस्था  न हो के बारे में उन्होंने जिला प्रशासन को उचित दिशा निर्देश दिये। बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रैस संवाददात अपनी गाडियां कैनेडी चौक से लेकर C M Gate  (30 मीटर दूर) तक पार्क कर सकेंगे जबकि विधान सभा सचिवालय के अधिकारी/ कर्मचारियों  महालेखाकार से मुख्यमंत्री गेट (30 मीटर दूर) तक अपनी गाड़िया पार्क कर सकेंगे।

    (हरदयाल भारद्वाज),
    उप-निदेशक,
    लोक संपर्क एवं प्रोटोकॉल, 
    हि0प्र0 विधान सभा ।
      

Page 1 of 7